Monday, April 12, 2021

शेरशाह इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने बनाया E-Commerce एप | MrGrofer App

अंकित और चंद्रेश्वर ने MrGrofer App को अपने कड़ी मेहनत से तैयार किया है । अंकित कंप्यूटर साइंस ब्रांच के फाइनल ईयर के छात्र है जबकि चंद्रेश्वर ने EEE ब्रांच से बीटेक का डिग्री पिछले वर्ष पूरी कर चुके हैं ।

Proud

सासाराम के दिनारा का लाल फिर बना बिहार टॉपर | Bihar Matric Topper 2021

Bihar Matric Topper 2021 संदीप ने 484 अंक यानि 96.8% मैट्रिक परीक्षा में हासिल किया है ।

सासाराम कि बेटियों ने किया कमाल…. गेट परीक्षा की सफलता से तोड़ रही हैं सदियों की दीवार | Gate Girls

Gate Girls : देश प्रगति कर रहा है। लड़कियों की शिक्षा के प्रति अभिभावक सचेत भी हुए हैं, लेकिन समाज में आज भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो बेटों को अधिक महत्व देते हैं, यह खबर उन्हें जरूर पढ़ना चाहिए और अपनी सोंच बदलनी चाहिए ।

Tour & Travel

Rohtas

मां तुतला भवानी हैंगिंग ब्रिज का आज हुआ उद्घाटन, अब जा सकेंगे आम नागरिक ,मन्दिर भी खुल गया

आज मंगलवार 22 सितम्बर 2020 को जिला रोहतास के मां तुतला भवानी धाम में नवनिर्मित हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के द्वारा संपन्न हुआ । वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन समारोह को संपन्न किया गया । इस मौके पर डीएफओ सहित कई कनी अधिकारी भी मौजूद रहें ।

Stay Connected

45,000FansLike
3,000FollowersFollow
500FollowersFollow
300SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Make it modern

Latest Reviews

800 वर्षों में आज दूसरी बार बंद हुआ मां ताराचण्डी धाम | Tarachandi Temple Closed Cov 19

ताराचंडी मंदिर की स्थापना का इतिहास 12वीं शताब्दी का है । मन्दिर स्थापना का इतिहास 12वीं शताब्दी का है ,तब से पिछले वर्ष तक कभी भी मां का पट बंद नहीं हुआ Tarachandi Temple Closed Cov 19

History

सासाराम के वीर योद्धा आन बान और शान ,अंग्रेजी तोप से शहीद बाबू निशान सिंह

सासाराम के बड्डी गांव निवासी थें शहीद बाबू निशान सिंह । अंग्रेजों ने गिरफ्तार करने के लिए अपनी सेना को आरा भेजा । बाबू कुंवर सिंह के मौत के बाद निशान सिंह का बाहुबल और उनकी अवस्था अब पहले की तरह नहीं रही । उन्हें सासाराम के गौरक्षणी मुहल्ले में जंगलों के बीच तोप के मुंह पर बांधकर गोली से उड़ा दिया गया ।

सासाराम में धधकी थी अगस्त क्रांति की ज्वाला – Sasaram Ki Galiyan

क्रांति की ज्वाला में जब देश में हर तरफ अंग्रेजों के विरुद्ध बगावत का स्वर बुलंद हो रहा था, उस समय सासाराम में भी...
- Advertisement -

Holiday Recipes

ताराचंडी मंदिर की स्थापना का इतिहास 12वीं शताब्दी का है । मन्दिर स्थापना का इतिहास 12वीं शताब्दी का है ,तब से पिछले वर्ष तक कभी भी मां का पट बंद नहीं हुआ Tarachandi Temple Closed Cov 19

Food & Taste

Health & Fitness

Architecture

LATEST ARTICLES

error: Content is protected !!